➡️दिनांक 09.05.2023 को प्रार्थी शिवम कहार पिता सुनील कहार उम्र 21 वर्ष निवासी बैलहाई गोटेगांव ने थाना गोटेगांव में रिपोर्ट दर्ज करवाया कि कमलेश पटैल निवासी गोटेगांव द्वारा लोन दिलाने एवं सिविल स्कोर अच्छा करने का लालच देकर मुझसे यूनियन बैंक एवं ऐक्सेस बैंक में खाता खुलवाकर खाता नंबर एवं एटीएम कार्ड पासवर्ड लेकर मेरे खाते से मेरी अनुमति के बिना एक्सेस बैंक के खाते से 08-09 लाख रुपये का ट्रांजेक्शन कमलेश पटैल एवं इनके साथियों द्वारा मिलकर मेरे साथ धोखाधडी की गयी है।

➡️प्रार्थी की रिपोर्ट पर आरोपियों के विरुद्ध दर्ज किया गया था धोखाधडी का अपराध पंजीबद्धः- प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना गोटेगांव पुलिस द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुए आरोपियों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 384/23 धारा 420, 467, 120 बी भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

➡️आरोपियों की पतासाजी एवं गिरफ्तारी हेतु गठित की गयी थी विशेष पुलिस टीम :- प्रार्थी के साथ धोखाधडी कर आरोपी फरार हो गये थे। प्रकरण की सूचना पुलिस अधीक्षक अमित कुमार को प्राप्त होने पर प्रकरण में आरोपियो की पतासाजी एवं गिरफतारी हेतु अति0पुलिस अधीक्षक एवं अनु0अधि0 (पुलिस) गोटेगांव के मार्गदर्शन में थाना गोटेगांव की विषेष पुलिस टीम गठित किया जाकर आरोपियों की पतासाजी एवं गिरफ्तारी हेतु निर्देश दिए गए थे।

➡️आरोपियों की पतासाजी हेतु मुखबिर एवं तकनीकी माध्यमों का किया गया उपयोग :- फरार आरोपियों की पतासाजी एवं गिरफ्तारी हेतु स्थानीय मुखबिरों को सक्रिय किया जाकर जानकारी एकत्रित की गयी एवं तकनीकी माध्यमों का उपयोग किया गया जिसके परिणामस्वरूप आरोपी (01)- आकाश पिता मनीष सिंह राजपूत को गोसलपुर जिला जबलपुर से, (02)- शिवम उर्फ ब्रजेश राजपूत को पशु चिकित्सालय गोटेगांव के सामने से, (03)-आरोपी अश्विनी पटेल को ग्राम कुम्हड़ाखेडा से, (04)- आरोपी अनिल उर्फ छोटू पटेल को बैलहाई गोटेगांव से (05)- आरोपी अमन नोरिया को आजाद वार्ड गोटेगांव से एवं (06)- अवधेश राणा राजपूत को ग्राम गोंहचर गोटेगांव को गिरफ्तार किये जाने में सफलता प्राप्त हुई। गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से KIA Company की एक कार, एटीएम, पासबुक, चैकबुक एवं 06 मोबाइल जप्त किये गये तथा इनके पास से प्राप्त अलग-अलग करीब 35 बैंक खाते की जानकारी में 05 करोड 81 लाख रुपये का लेन-देन पाया गया है।

➡️ आरोपी इस तरह से देते थे घटना को अंजाम :- प्रकरण में आरोपियों द्वारा गोटेगांव एवं आसपास को लोगों को यह कहकर खाते खुलवाये गये कि हम आपको लोन दिलवायेंगे और आपका सिविल स्कोर बढोंयेंगे ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा राशि का लोन मिल सके। इस प्रकार लोगों के खाते खुलवाकर बैंक से एटीएम दिलवाये जाकर एवं मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड करवाकर सिम, एटीएम एवं खाता आरोपी आकाश राजपूत को बेचते थे। जिन खातों में अनाधिकृत लेन देन किया जाता था जिसकी जानकारी खाताधारकों को नहीं होती थी। आरोपियों द्वारा गोटेगांव एवं आसपास के गांव के लोगों के अलग-अलग करीब 35 बैंक खाते खुलवाकर इन खातों में विभिन्न प्रदशों म0प्र0, उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडू, राजस्थान, पंजाब, हरिणाया के लोगों के साथ धोखाधडी की जाकर कुल 06 करोड रुपयों का अनाधिकृत लेन-देन किया गया है। जिन खातों को सायबर द्वारा फ्रीज कराये गये हैं जिनमें लगभग 02 लाख 82 हजार रुपये की राशि फ्रीज कराई गयी है एवं अन्य राशि आरोपियों द्वारा उपयोग की जा चुकी है।

*आरोपियों की गिरफ्तारी एवं पजासाजी में इनकी रही सराहनीय भूमिका :-* सायबर ठगी करने वाले आरोपियों की पतासाजी एवं गिरफ्तारी में श्री सुनील कुमार शिवहरे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, श्रीमती भावना मरावी अनु0अधि0पुलिस गोटेगांव, थाना प्रभारी गोटेगांव निरीक्षक हिमलेन्द्र पटेल, उपनिरीक्षक विजय धुर्वे, उनि विजय द्विवेदी, उनि दिलीप सिंह, उनि विजय सेन, प्र0आर0 महेन्द्र शुक्ला, प्र0आर0 चंद्रप्रकाश, प्र0आर0 अरूण, प्र0आर0 चंद्रिका, आर0 सचिन, आर0 विपिन, आर0 उमेश, आर0 अखिलेश, आर0 योगेन्द्र एवं सायबर सेल से आर0 अभिषेक सूर्यवंशी, आर0 आशिफ खान, म0आर0 कुमुद पाठक, आर0 नीरज डेहरिया की सराहनीय भूमिका रही है।